Self Confidence in hindi आत्मविश्वास बढ़ाने के 10 best तरीके

Self Confidence in hindi

Self confidence in hindi  दोस्तों self confidence की Hindi meaning आत्मविश्वास!

confidence mindset (आत्मविश्वास मानसिकता) किसी भी काम में success को पाने की चाबी है!

आप कुछ भी पाने चाहते है, तो आप ये set करते  आपको किया पाना है! कोई भी dream को पाना हो, किसी भी बुरी आदत को छोड़ना या कोई  नयी अच्छी  आदते बनानी हो!

तो आपको action लेने चाहिये! लगातार (CONSISTENT ACTION) उस चीज़ पर आप काम करे, जो लक्ष्य या (goals) तक आप पहुचना चाहते है! ये ही सबसे best तरीका है! जिससे आप को सफल मिलेगी!

आत्मविश्वास बढ़ाने के 10 तरीके (Self Confidence in hindi)

1. जो भी आपके पास है उसका शुक्र अदा (APPRECIATE) करे 

उन अद्भुत चीजों पर ध्यान दें, जो आपके जीवन में पहले से मौजूद हैं। अधिक के लिए प्रयास करना बहुत अच्छा है,

लेकिन बेहतर मानसिकता रखने का प्रयास करें और आप इस बारे में अधिक स्पष्ट होंगे कि अधिक कैसे प्राप्त किया जाए। हर चीज के लिए कृतज्ञता (जो भी आपके पास है उसका शुक्र अदा (APPRECIATE) करे)

अब आपको जमीन से जोड़े रखने और आत्मविश्वास बनाने में मदद करती है!

जो भी आपके पास है दुनिया में बहुत ऐसे है लोग है, जिनके पास वो नहीं है!

अगर कुछ भी आपको समझ नहीं आ रहा रहे, तो ये याद रखे आप जीवित है और बहुत ऐसे लोग है जो अब जीवित नहीं है! इसलिये

जो भी आपके पास है उसका शुक्र अदा (APPRECIATE) करे!

Self Confidence in hindi
Self Confidence in hindi
2. अपने लक्ष्य तक पहुचने के लिए छोटे लक्ष्य (SMALL GOALS) बनाये (Self confidence in hindi)

अपने जीवन में बड़ा लक्ष्य रखना बहुत अच्छी बात है! पर अधिकांश ऐसे लक्ष्य पुरे या सफल नहीं हो पाते है!

क्योंकि उन तक पहुंचने के लिए आवश्यक कार्रवाई पहले सप्ताह के बाद ही  समाप्त हो जाती है।

वास्तव में छोटे-छोटे लक्ष्य बनाएं जो न्यूनतम प्रयास से प्राप्त किए जा सकें और लक्ष्यों को बढ़ाते रहें,

लेकिन तब तक नहीं जब तक कि पहले लक्ष्य तक नहीं पहुंच जाते। यह जल्दी सकारात्मक परिणाम (positive results quickly) देने में मदद करता है और आपको जारी रखने के लिए प्रोत्साहित (encourages) करता है।

इसलिये अपने लक्ष्य तक पहुचने के लिए छोटे लक्ष्य (SMALL GOALS) बनाये!

3 . अपने लक्ष्य को स्पष्टता (CLARITY) रखे !

अपने लक्ष्य को स्पष्ट रखे! लक्ष्य निर्धारित करे  और उन तक पहुंचने के लिए कार्रवाई करते रहे , अपने लक्ष्य को  ध्यान में रखे  ही work करे!

हर दिन कुछ work करते रहे जो की लक्ष्य को हासिल करने में आपकी मदद करे!  सबसे बड़ी प्राथमिकताओं पर ध्यान केंद्रित करे !

4. ध्यान (meditation) के लिए थोडा वक्त निकले!

ध्यान करे! एक-दो बार गहरी सांसें  ले और अपने दिमाग को थोड़ा आराम दें।

हम अपने सिर को बिना रुके जिम्मेदारियों से भर देते रहते  हैं जो तनाव पैदा कर सकता है, रक्तचाप बढ़ा सकता है, क्रोध का आह्वान कर सकता है,

इसलिये थोडा ध्यान करे ! और दिमाग को कंट्रोल और  रिलेक्स रखे!

ध्यान की सबसे सरल तरीका अपनाये सांस ले और और छोड़े!

5. खुद को motivate (उत्साह करना) करते रहे (Self confidence in hindi)

हर इंसान उगते सूरज को सलाम करता है अपने सुना ही होगा!

जब तक आप कामयाब नहीं होते  आपको अपनी मदद खुद ही करनी होगी! खुद को उत्साहित करते रहे!

असफलता से ना घबराये ये कामयाबी की पहली सीढी है! खुद का motivate करते रहे!

हँसते रहे है मुस्कराते रहे ! गाने गाये dance करे या अपने तरीके खोजे पर अपने दिमाग को काम पर लागए रखे! जीत केलिए योजानाये बनाते रहे!

6. काम की planning पहले करे!

एक नोटपैड लें और उन चीजों को लिख लें

जिन्हें आप बिल्कुल नहीं भूल सकते। वो भी लिखे!और important जिससे आप ना भूल वो लिखे! नोट्स बनाएं और उन्हें प्राथमिकता दें।

किस चीज़ या किस  planning को  प्राथमिकता देनी ये तय करे! emergency या बिना सोचे समझे काम करने जरुरत नहीं है!

7. अपने दिन की शुरुआत positive रखे!

“The beginning is the most important part of the work.” (Plato)  शुरुआत काम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है!

अपने दिन की शुरुआत कुछ (positive ) सकारात्मक से करें। इसमें , महान quotes , प्रेरक संगीत( inspiring music, हँसी, या व्यायाम (exercise) को  शामिल  सकते हैं,

जो भी आपको  आनंद देता हो,  लेकिन इसे दिन में सबसे पहले करें। जिससे आप पुरे दिन सकारात्मक रहे ! आपका  ऐसा मूड बनेगा जो की आपका पूरा दिन बहुत बेहतर बनाने में मदद करेगा!

8.  स्वीकार (accept) करना सीखे!

जो भी आपने तय कर हो जरुरी नहीं है  कि सब कुछ आपकी योजना के अनुसार नहीं ही होगा।

अगर आपके planing के अनुसार result नहीं मिल रहा हो तो! अपनी कमियों को स्वीकार (accept) करना सीखे!

ऐसी situations में plan B बनाने का प्रयास करे! कभी कभी कुछ problem या आपदाएं आ जाती उसके अनुसार नयी planing करे!

problem के solution पर ध्यान दे !

9. काम को लगातार करते रहे!

जिस लक्ष्य तक आप पहुचना चाहते है जो भी आप result पाना चाहते है  उस के लिए काम करते रहे!

चाहे प्रयास कितना भी छोटा ही क्यों ना हो पर उस लक्ष्य  के लिए काम करते रहे!

कभी सारी situations आपके  fever में नहीं होगी is बात याद रखे! ये कदम आपके आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करेगी!

छोटे-छोटे कदमों के साथ आगे बढ़ते रहें जो आपको बड़ी सफलता की ओर ले जायेगी!

10. क्षमा (FORGIVE) करना सीखे!

उन लोगों और स्थितियों को क्षमा करना सीखकर अतीत से बाहर निकलें, जिनके कारण आपको गुस्सा, असहाय, अभिभूत, निराश, अप्रसन्न, आपका आत्मविश्वास, और कुछ भी नकारात्मक महसूस हुआ।

इन लोगों / अवसरों से जुड़े विनाशकारी व्यवहार से छुटकारा पाएं और उन्हें अतीत में छोड़ दें।

जो बीत गया उसको आप बदल नहीं सकते future में क्या होगा ये भी आप decide नहीं कर सकते है!

आपके पास सिर्फ आपका आज है जिस पर आप काम कर सकते है!

आपके पास यह तय करने की शक्ति है कि आप अपनी इच्छा के अनुसार अधिक प्रगतिशील और सकारात्मक परिणामों के साथ आगे बढ़ेंगे।

अपने लिए तय करें कि आप स्वतंत्रता, उपलब्धि और खुशी के नए स्तरों तक पहुंचने के लिए जो भी आवश्यक होगा, वह करेंगे !

जो आपने पहले कभी महसूस नहीं किया है। आत्मविश्वास की मानसिकता प्राप्त करें कि आप महत्वपूर्ण हैं और आप जितना हो सके उतना अच्छा बनने के लिए कोई भी आवश्यक परिवर्तन और कार्य करेंगे।

आपको आपसे अच्छा कोई नहीं जानता है
आप जानते हैं कि आपको क्या करना है।  . . अब बस करो!

You know what you need to do . . . now JUST DO IT! (आप जानते हैं कि आपको क्या करना है।  . . अब बस करो)

नोट : आत्मविश्वास बढ़ाने के 10 तरीके (Self Confidence in hindi) क्या आपको ये  पसंद आये!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top